Sunday, 2 September 2012

SYS डूसू चुनाव में पूरा पैनल उतारेगी

सोशलिस्ट युवजन सभा (SYS) की दिल्ली इकाई की बैठक में फैसला किया गया है की सोशलिस्ट पार्टी का यह युवा संगठन दिल्ली विश्वविधालय छात्र संघ (डूसू)के आगामी चुनाव में चारों पदों पर अपने उम्मीदवार उतारेगा । सोशलिस्ट युवजन सभा लोकतांत्रिक समाजवाद, आर्थिक समानता, सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता के मूल्यों पर विश्वास रख कर चलने वाला संगठन है । यह संगठन लिंग, जाती, धर्म और वर्ग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं करता है और सभी की समानता, स्वतंत्रता में विश्वास रखता है । गाँधी, डॉ. राममनोहर लोहिया, आंबेडकर और भगत सिंह के विचारों से प्रेरित SYS शिक्षा के निजीकरण और बाजारीकरण का पूरी तरह विरोध करती है । SYS का मानना है कि नवउदारवादी व्यवस्था भारतीय शिक्षा व्यवस्था और समाज व्यवस्था को सम्पन्न वर्गों के लिए संरक्षित करती है, ऐसे में SYS देश की बड़ी युवा आबादी को शिक्षा से वंचित करने के षड्यंत्र का पुरजोर विरोध करती है । SYS मानती है कि महाविधालय और विश्वविधालय छात्रों के सर्वांगीण विकास का मंच है, न कि  मुनाफा कमाने की जगह । SYS छात्राओं की पूरी तरह   सुरक्षा, प्रत्येक कॉलेज के लिए यू स्पेशल, मेट्रो का रियायती कार्ड, डीटीसी पास की सभी बसों में मान्यता, हॉस्टल की प्रयाप्त सुविधा, कैम्पस कॉलेज में सांध्य सत्र की शुरुआत, होस्टल फ़ीस, कॉलेज फ़ीस एवं उत्तरपुस्तिका  पुनर्मूल्यांकन की फ़ीस में बढ़ोतरी की वापसी, जैसे मुद्दों को उठाएगी । इसके साथ  संगठन की मांग है की कमजोर तबके के छात्रों के लिए अतिरिक्त और रोजगारोन्मुख कक्षाओं का आयोजन हो ।

बैठक में SYS के दिल्ली इकाई के अध्यक्ष योगेश पासवान, उपाध्यक्ष मंजू, सचिव निखिल पाण्डेय ने हिस्सा लिया  । केन्द्रीय समिति की ओर से SYS के राष्ट्रिय महासचिव निरंजन महतो और केन्द्रीय समिति के सदस्य डॉ हेमलता और नीरज सिंह बैठक में उपस्थित थे । पदाधिकारियों ने कहा कि  SYS पूरी सक्रियता से दिल्ली विश्वविधालय छात्र संघ का चुनाव लडेगा । चुनाव समिति का गठन किया गया है जिसमें संयोजक का दायित्व SYS के वरिष्ठ सदस्य राकेश कुमार दुबे को सौंपा गया है

नीरज सिंह

No comments:

Post a Comment

जाति और योनि के दो कटघरे

डॉ. राममनोहर लोहिया       दुनिया में सबसे अधिक उदास हैं हिन्दुस्तानी लोग | वे उदास हैं, क्योंकि वे ही सबसे ज्यादा गरीब और बीम...