Saturday, 17 August 2013

To hold agitation against capitalism and communalism



Date:11 August 2013
Press Release
National Executive Meeting of Socialist Party held in Delhi.
To hold agitation against capitalism and communalism, and to contest state assembly and general elections

A 2-day national executive meeting of the Socialist Party was held in Delhi on 10-11 August 2013. Bhai Vaidya, national president of the party and former Home Minister of Maharashtra, chaired the meeting. National and state office bearers, national executive members, attending the meeting from several states were, welcomed by Justice Rajindar Sachar, senior member of the party.
It was decided at the meeting that a nation-wide agitation ‘Defeat capitalism – Bring socialism’ will be organized on 8 October (death anniversary of JP) to create public opinion against capitalism. The party will organize dharna, demonstration and protest marches distributing a 10 point pamphlet against capitalist economic policies. To spread awareness against communal forces a nation-wide agitation ‘Save secularism – Shed communalism’ will be held all over the country on 31 October (birth anniversary of Acharya Narendra Dev). As a part of this agitation, special programs will be organized to establish peoples’ faith in secularism, a value enshrined in the Constitution. The party’s youth wing Socialist Yuvjan Sabha (SYS) will bear the main responsibility of this agitation by holding discussions and cultural programs in colleges and universities. The national executive expressed its form view that political parties should come under the purview of and abide by the RTI.
The national executive welcomed the formation of Telngana state and congratulated its people. Nevertheless it cautioned the prospective leadership and political parties of the resource-rich Telangana that the valuable natural resources should not be open to loot by corporate houses. Rather the resources should be used for the upliftment of the hard working masses. The political leadership should ensure that all citizens get education, health, employment and good governance in the new state.   
The national executive further decided that the party will contest the coming state legislative assembly and general elections. The process of identification of constituencies and candidates is speedily under way. The party will make electoral alliance with the like-minded political parties who are totally opposed to capitalism and support socialism. The draft election manifesto was accepted after deliberations and suggestions for the purpose of elections. The manifesto will be released soon.  
Party literature, available on Blog, Facebook, Twitter and You Tube, was launched by the party’s national vice president and veteran socialist leader Akhai Achumi.

Bhai Vaidya
National President

Dr. Prem Singh
General Secretary and Spokesperson

पूंजीवाद और सांप्रदायिकता के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन की घोषणा




11 अगस्त 2013
प्रैस रिलीज
सोशलिस्ट पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में संपन्न
पार्टी आगामी विधानसभा व आमचुनावों में हिस्सा लेगी

सोशलिस्ट पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में 1011 अगस्त 2013 को संपन्न हुई। बैठक का उद्घाटन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष वरिष्ठ समाजवादी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री भाई वैद्य ने किया। पूरे देश से आए राष्ट्रीय व राज्य पदाधिकारियों व कार्यकारिणी सदस्यों का स्वागत पार्टी के वरिष्ठ सदस्य जस्टिस राजेंद्र सच्चर ने किया। बैठक में फैसला किया गया कि सोशलिस्ट पार्टी पूंजीवाद के खिलाफ जनमत बनाने के उद्देश्य से 8 अक्तूबर (जयप्रकाश नारायण की पुण्यतिथि) को देश भर में पूंजीवाद हराओ, समाजवाद लाओआंदोलन करेगी। इसके तहत प्रत्येक राज्य में धरना, प्रदशर्न, प्रतिरोध मार्च आदि आयोजित करके पूंजीवादी आर्थिक नीतियों के खिलाफ दस सूत्री परचा बांटा जाएगा। 31 अक्तूबर (आचार्य नरेंद्रदेव जयंती) को सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ जागरूकता फैलाने के लिए धर्मनिरपेक्षता बचाओ, सांप्रदायिकता भगाओआंदोलन किया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक राज्य में संविधान में निहित धर्मनिरपेक्षता के मूल्य में आस्था जगाने के उद्देश्य से कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसमें पार्टी की युवा शाखा सोशलिस्ट युवजल सभा (एसवाईएस) मुख्य जिम्मेदारी निभाते हुए महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में विशोष परिचर्चाओं और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करेगी। बैठक में तेलंगाना राज्य के गठन का स्वागम करते हुए तेलंगानावासियों को बधाई दी गई। हालांकि संसाधन समृद्ध तेलंगाना राज्य में राजनीतिक सत्ता के दावेदार नेताओं और पार्टियों को आगाह किया गया कि वे राज्य के कीमती प्राकृतिक संसाधनों को कारपोरेट घरानों की लूट से बचाएं और उनका क्षेत्र की मेहनतकश जनता के उत्थान के लिए सही उपयोग करें। नए राज्य में सभी लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और अच्छा प्रशासन मिलना चाहिए। बैठक में यह मत भी व्यक्त किया गया कि राजनीतिक पार्टियां आरटीआई के दायरे में होनी चाहिए।
बैठक में फैसला किया गया कि सोशलिस्ट पार्टी आगामी सभी विधानसभा चुनावों और 2014 के आम चुनाव में हिस्सा लेगी। इसके लिए चुनाव क्षेत्रों और उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया तेजी से चलाई जा रही है। पार्टी चुनावों में नवउदारवाद की मुकम्मल खिलाफत और समाजवाद की मुकम्मल हिमायत करने वाली सहमना पार्टियों से तालमेल करके चुनाव लड़ेगी। राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने चुनाव घोषणापत्र समिति के सदस्य अनिल नौरिया द्वारा तैयार ड्राफ्ट घोषणापत्र को चर्चा और सुझावों के बाद अपनी स्वीकृति दी। यह घोषणापत्र जल्दी ही जारी किया जाएगा।
फेसबुक, ट्वीटर, ब्लॉग और यूट्यूब पर उपलब्ध सोशलिस्ट पार्टी की विशोष सामग्री को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वरिष्ठ समाजवादी नेता अखाई आचुमी ने जारी किया।

भाई वैद्य
राष्ट्रीय अध्यक्ष
डॉ. प्रेम सिंह
महासचिव व प्रवक्ता

Monday, 5 August 2013

Dear Yuva Sathi,



Dear Yuva Sathi,
I am very happy indeed that SYS Delhi is organizing this training camp and congratulate the organizing committee for the same.
Our country is going through a very dark phase. None of the present political parties have willpower and vision to change this. Congress government has imposed Market Smriti on our country and BJP is dreaming to impose Manusmriti through Modi. The only ray of hope is today’s youth, intelligent, dynamic, daring and ready to take challenges of life. If this youth power is armed with political ideology of Socialism our country  will soon see non violent revolution  like Arab Spring or Jasmine revolution.  Present politics has shattered all the dreams of young generation. I appeal to all dynamic and dedicated youths to join SYS to fulfill their dreams about our country. Dreams of making our country free of poverty,  hunger, illiteracy, pollution, violence and corruption. Dreams of providing free, quality education and right jobs to everyone. Dreams of making our country a people’s superpower and not superpower of handful.  SYS is the only political youth front which certainly can echo ambitions and aspirations of our youths and become their voice.
Last year SYS participated in Delhi University’s elections and fared well. I hope you all will work hard and furl SYS flag on Delhi University this year. Future of our country lies in socialism and future of socialism lies in SYS.
Bhoolo mat bhoolo mat, Samajwad lana hai!
Samajwad lana hai, yeh SYS ka nara hai!
Jai Hind! Jai Bharat!
Apka Sathi,
Dr Abhijit Vaidya MD, IPT-Cardiology
National President, SYS  

तेलंगाना राज्य का स्वागत लेकिन संसाधनों की लूट न होने पाए

प्रैस रिलीज

सोशलिस्ट पार्टी अलग तेलंगाना राज्य के गठन के फैसले का स्वागत करती है और वहां के लोगों को बधाई देती है। पार्टी का मानना है कि तेलंगाना राज्य के गठन की मांग का भौगोलिक, सांस्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक और प्रशासनिक दृष्टि से औचित्य है। पूरे क्षेत्र की जनभावना इस मांग के साथ निरंतर जुड़ी रही है। तेलंगाना राज्य वहां की जनता के करीब 60 साल के संघर्ष का नतीजा है। इस बीच कई लोगों की जानें गई और कई लोगों ने आत्मदाह किया। अगर राष्ट्रीय और राज्य नेतृत्व तेलंगाना राज्य के गठन के औचित्य और जनभावना को समझ कर समय पर फैसला कर लेता तो इस मांग के पीछे मारे गए बहुत से लोगों की जानें नहीं जाती। सोशलिस्ट पार्टी अविभाजित आंध्र प्रदेश के समर्थकों से अपील करती है कि वे इस फैसले को सही भावना से स्वीकार करें और तेलंगाना राज्य के विकास में भरपूर योगदान दें। प्रदेश के तटीय और रायलसीमा जिलों के नेताओं को प्रदेश के सालों से एक साथ रह रहे लोगों के हित में संयम बरतना चाहिए।
सोशलिस्ट पार्टी ने हैदराबाद में मई 2011 में हुए अपने स्थापना सम्मेलन में आंध्र प्रदेश से अलग तेलंगाना राज्य बनाने का प्रस्ताव पारित किया था। तभी से राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर सोशलिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता तेलंगाना राज्य की मांग के समर्थन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रो. केशवराव जाधव और महासचिव नुरुल अमीन ने राज्य स्तर पर निरंतर तेलंगाना राज्य के लिए चलने वाले आंदोलन में हिस्सेदारी की। राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी के वरिष्ठ नेता जस्टिस राजेंद्र सच्चर और राष्ट्रीय अध्यक्ष भाई वैद्य ने तेलंगाना राज्य के समर्थकों के साथ एकजुटता दिखाई और कई मंचों से राज्य के अविलंब गठन की मांग को उठाया।
सोशलिस्ट पार्टी संसाधन समृद्ध तेलंगाना राज्य में राजनीतिक सत्ता के दावेदार नेताओं और पार्टियों को आगाह करना चाहती है कि वे राज्य के कीमती प्राकृतिक संसाधनों को कारपोरेट घरानों की लूट से बचाएं और उनका क्षेत्र की मेहनतकश जनता के उत्थान के लिए सही उपयोग करें। नए राज्य में सभी लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और अच्छा प्रशासन मिलना चाहिए।

डॉ. प्रेम सिंह
महासचिव व प्रवक्ता

Welcome to Telangana with a word of caution.



1 August 2013
Press Release



The Socialist Party welcomes the formation of Telngana state and congratulates its people. The party believes that there has been a geographical, cultural, political, economic and administrative justification behind the demand for separate Telangana state. It has been a demand based on peoples’ genuine will. The people of Telangana region made a long struggle for around 60 years to achieve the goal. Several people lost their lives in police firings and self immolations during the agitation. Had the central and the state leadership taken timely decision on the issue, these lives would have been saved. Socialist Party appeals to the supporters of undivided Andhra Pradesh to accept the decision in  good spirit and to help the new state in its development. Leaders from coastal Andhra and Raylaseema regions should exercise restrain in the best interest of people who have been living together for years.  
The Socialist Party had passed a resolution in favour of Telangana state at its formation convention held at Hyderabad in May 2011. Since then the national and Andhra Pradesh state leaders of the party have played an important role in the creation of Telangana state. Prof. Keshav Rao Jadhav, national vice president, and Nurul Ameen, general secretary, continuously participated in the agitation at state level. Justice Rajindar Sachar, senior leader of the party, and Bhai Vaidya, national president, expressed solidarity with the supporters of Telangana and raised their demand at various forums.
The Socialist Party would nevertheless, like to caution the prospective leadership and political parties of the resource-rich Telangana that the valuable natural resources should not be open to loot by corporate houses. Rather the resources should be used for the upliftment of the hard working masses. The political leadership should ensure that all citizens get education, health, employment and good governance in the new state.

Dr. Prem Singh
General Secretary and Spokesperson

विदेषी निवेष के नियम हटा कर सरकार ने खुदरा व्यापार को बहुब्रांड कंपनियों को बेच दिया है।


3 अगस्त 2013
प्रैस रिलीज

खुदरा क्षेत्र में विदेषी निवेष के निर्धारित नियमों को हटा कर सरकार ने पूरे खुदरा क्षेत्र को वैष्विक बहुब्रांड खुदरा कंपनियों की लूट के लिए खुला छोड़ दिया है। सोषलिस्ट पार्टी यूपीए सरकार के इस जनविरोधी फैसले का कड़ा विरोध करती है और सभी विपक्षी राजनीतिक पार्टियों, मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा समेत, अपील करती है कि वे सरकार के इस नए फरमान का विरोध करें और खुदरा में विदेषी निवेष के फैसले को हमेषा के लिए रद्द कराने की मांग एक बार फिर से जोरदार तरीके से उठाएं।
सरकार का यह नया फैसला बताता है कि कांग्रेसी नेताओं ने देष के संविधान को उठा कर ताक पर रख दिया है और मेहनतकष किसानों और खुदरा व्यापारियों के विरोध में खुल कर सामने आ गए हैं। वे अपने संसद में दिए गए बयानों और फैसलों की भी परवाह  नहीं करते। ‘त्याग के देवी’ सोनिया गांधी, ‘ईमानदारी के देवता’ मनमोहन सिंह, उनके ‘सर्वश्रेष्ठ नवउदारवादी बच्चे’ पी. चिदंबरम, विदेषी निवेष का विरोध करने वालों की खबर लेने विदेषी कंपनियों की षाबासी पाने वाले वाणिाज्य व उद्योग मंत्री आनंद षर्मा और पूरी नवउदारवादी मंडली अपने पूरे रंग में आ गई है। उन्होंने देष को बहुराष्ट्रीय कंपनियों को बेचने की कमर कस ली है।
नए फैसले के मुताबिक अब 10 लाख से कम आबादी के षहरों में वालमार्ट, टेस्को, कारफर जैसी खुदरा व्यापार की वैष्विक बहुब्रांड कंपनियों को अपने स्टोर खोलने की अनुमति मिल गई है। यह षर्त भी हटा ली गई है कि उन्हें अपनी 30 प्रतिषत खरीद भारत की छोटी औद्योगिक इकाइयों से करनी होगी। कुल निवेष का 50 प्रतिषत इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च करने की षर्त भी बिल्कुल ढीली कर दी गई है। 
सेषलिस्ट पार्टी उन सभी राजनीतिक पार्टियों से इस फैसले का पुरजोर विरोध करने की अपील करती है जो देष के चार करोड़ खुदरा व्यापारियों और उनके 20-25 करोड़ पारिवारिक सदस्यों के हितों का सच्चाई में पक्ष लेने वाली हैं। पार्टी संवैधानिक संप्रभुता और उसमें स्थापित समाजवादी व्यवस्था कायम करने के संकल्प में आस्था रखने वाले सभी व्यापार संघों, मजदूर संघों, सामाजिक संगठनों और सचेत नागरिकों से भी अपील करती है कि वे नए नियमों के साथ खुदरा में 51 प्रतिषत निवेष के सरकार के फैसले का एकजुट अैार निर्णायक विरोध करें।

डाॅ. प्रेम सिंह
महासचिव व प्रवक्ता      

जाति और योनि के दो कटघरे

डॉ. राममनोहर लोहिया       दुनिया में सबसे अधिक उदास हैं हिन्दुस्तानी लोग | वे उदास हैं, क्योंकि वे ही सबसे ज्यादा गरीब और बीम...