Thursday, 18 December 2014

सोशलिस्‍ट पार्टी दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिस्सा लेगी

14 दिसंबर 2014
प्रैस रिलीज

सोशलिस्‍ट पार्टी दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिस्सा लेगी

सोशलिस्ट पार्टी दिल्ली प्रदेश की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में आज यह फैसला किया गया कि पार्टी आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव में सीमित सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। लड़ी जाने वाली सीटों और उम्मीदवारों की घोषणा जल्दी ही की जाएगी। पार्टी पूंजीवादी और सांप्रदायिक ताकतों के गठजोड़ का विरोध करने वाले सहमना दलों के साथ एकजुटता बनाने की कोशिश करेगी। चुनाव पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य वरिष्ठ समाजवादी नेता ष्याम गंभीर के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। सभी जिलाध्यक्षोंसोशलिस्ट युवजन सभा (एसवाईएस) के पदाधिकारियों और प्रमुख कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में यह फैसला किया गया।
बैठक पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली प्रदेष प्रभारी डाॅ. संदीप पांडे की अध्यक्षता में संपन्न हुई। उन्होंने कहा कि सोशलिस्ट पार्टी अपने उम्मीदवार उतार कर उन मतदाताओं को आवाज दर्ज कराने का मौका देगी जो धन-बल और छल-बल की राजनीति का सही मायनों में विकल्प चाहते हैं। सोशलिस्ट पार्टी के साफ-सुथरी छवि के उम्मीदवार एक परचा लेकर चुनाव प्रचार करेंगे। करोड़ों रुपया खर्च करके चुनाव लड़ने वाले कभी गरीबों का भला नहीं कर सकते। सोशलिस्ट पार्टी मेहनतकशों के हितों के लिए लड़ने वाली पार्टी है जिसका पुराना इतिहास है। दिल्ली की मेहनतकश अवाम को सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवारों को जिता कर विधानसभा में भेजना चाहिए।
इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डाॅ. प्रेम सिंह ने कहा कि दिल्ली की जनता पर यह चुनाव थोपा गया है। वही पार्टियां हैंवही नीतियां हैंवही नारे हैंइधर से उधर आने-जाने वाले वही नेता हैं - जो एक साल पहले थे। जनता ने दिल्ली में तीन बार सरकार चला चुकी कांग्रेस को परास्त करके भाजपा और आम आदमी पार्टी को भारी मतो से जिताया था। कांग्रेस के बिना शर्त समर्थन से आप’ की सरकार बनी थी। लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ दिनों बाद ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने बनारस जाकर नरेंद्र मोदी की जीत पक्का करने के लिए चुनाव लड़ा। उनका मकसद पूरा भी हो गया। उसके बाद आसानी से दिल्ली में भाजपा और आप’ की सरकार बना कर धन और समय की बरबादी का यह चुनाव टाला जा सकता था। लेकिन कारपोरेट घरानों की समर्थक पार्टियां एक बार फिर मेहनतकश जनता की कमाई से लूटा गया अकूत धन पानी की तरह बहाने में लगी हैं। सोशलिस्ट पार्टी चुनाव में इस गैर-जिम्मेदार और धोखा-धड़ी की राजनीति के खिलाफ दिल्ली के मतदाताओं को आगाह करेगी। पार्टी असंगठित व संगठित क्षेत्र के मजदूरोंछोटे दुकानदारों/व्यापारियोंमहिलाओंअल्पसंख्यकों और छात्रों के मुद्दों/समस्याओं को उठाने व सुलझानें पर जोर देगी। 
बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री फैजल खान ने कहा कि पार्टी खास तौर पर युवाओं के बीच जाकर अपनी बात रखेगी और उन्हें सोशलिस्ट पार्टी के साथ जोड़ने का प्रयास करेगी।

रेणु गंभीर
अध्यक्षसोशलिस्ट पार्टी दिल्ली प्रदेश 

No comments:

Post a Comment

Prof. Keshav Rao Jadhav : A man of Courage, Conviction and Commitment

Prem Singh Prof. Keshav Rao Jadhav, a prominent socialist thinker and leader passes away on 16th June 2018 at a hospital in Hyde...