Thursday, 16 April 2015

(06-13 अप्रैल) राज्य सत्ता के दमनकारी भूमिका के खिलाफ राष्ट्रीय सप्ताह

April 7, 2015

Press Release


सोशलिस्ट पार्टी पूरी मजबूती से भारत के स्वतंत्रता आंदोलन की विरासत से ख़ुद को जोड़ती है। इस संबंध में सोशलिस्ट पार्टी (इंडिया) 06 से 13 अप्रैल के राष्ट्रीय सप्ताह की याद नागरिकों को दिलाना चाहती है। ये वही दिन  हैं जब स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी ने 6 अप्रैल 1919 को रोलेट एक्ट का विरोध शुरू किया था और 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में औपनिवेशिक दमन का खूनी खेल खेला गया था महात्मा गांधी के राष्ट्रव्यापी हड़ताल बुलाने की स्मृति में इस सप्ताह को राष्ट्रीय सप्ताह के रूप में मनाना शुरू किया गया था महात्मा गांधी ने इस दौरान औपनिवेशिक दमन के खिलाफ लोगों को एकजुट करने के लिए कई अभियान शुरू किए इस अवसर का इस्तेमाल राष्ट्रीय संघर्ष में सभी समुदायों के योगदान को रेखांकित करने के लिए भी किया गया।

सोशलिस्ट पार्टी इस बात में यक़ीन रखती है, कि नव-साम्राज्यवादी सत्ता और वर्तमान राजनीतिक हालात में राज्य सत्ता के दुरुपयोग के खिलाफ इस मौके को हमें भूलना नहीं चाहिए पिछले साल की तरह इस साल भी, सोशलिस्ट पार्टी राष्ट्रीय सप्ताह मनाने के लिए स्‍वतंत्रता आंदोलन और उसकी लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष और समतावादी विरासत विषय पर सभी राज्यों में गोष्ठियोंका का आयोजलन करेगी


Bhai Vaidya
President 

1 comment:

  1. You really gave a nice thought on the peoples Movement in India.

    Thanks for the sharing an awaking blog.

    Peoples Movement of India

    ReplyDelete

NEHRU’S ROLE IN INDIA

NEHRU’S ROLE IN INDIA Rajindar Sachar Reverence and hero worship for Jawaharlal Nehru was normal not only with the older gene...